विज्ञापन
Story ProgressBack

वोट डालने के बहाने मायके से बुलाया, बाद में विवाहिता की हत्या कर गुपचुप कर दिया अंतिम संस्कार

पिता के मुताबिक पति बनवारी की यातनाओं के चलते मायके रह रही थी. 25 नवंबर को होने वाले मतदान को लेकर पति बनवारी लक्ष्मी को अपने साथ बुलाकर ले गया था, लेकिन बेटी की हत्या कर बिना सूचना दिए हुए उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया. मृतका पर एक बेटी व एक बेटा है.

Read Time: 4 min
वोट डालने के बहाने मायके से बुलाया, बाद में विवाहिता की हत्या कर गुपचुप कर दिया अंतिम संस्कार
धौलपुर:

धौलपुर न्यूज़: जिले के कोलारी थाना क्षेत्र के नया नगला गांव में 27 साल की विवाहिता की संदिग्ध अवस्था में मौत होने का मामला सामने आया है. ससुराल पक्ष के लोगों ने मायके पक्ष के लोगों को बिना सूचना दिए हुए अंतिम संस्कार भी कर दिया. मायके वालों को जब मामले की भनक लगी तो उनके होश उड़ गए. मृतका के पिता ने ससुराल पक्ष पर हत्या का आरोप लगाते हुए नामजद हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है.

जेठ से हुई थी दूसरी शादी 

मृतका के पिता विजेंद्र कुशवाह निवासी मानसिंह का नगला ने थाने में दर्ज मुकदमा में बताया कि उसकी बेटी लक्ष्मी (27) की शादी 12 साल पूर्व नया नगला गांव के राजन कुशवाह के साथ हुई थी. करीब डेढ़ साल पहले लक्ष्मी के पति राजन कुशवाहा की मौत हो जाने के बाद उसकी शादी जेठ बनवारी के साथ कर दी गई थी.

शादी के बाद पति बनवारी की पिटाई से पीड़ित होकर उसकी बेटी मायके में रहने लगी थी. रिपोर्ट में बताया गया कि मतदान के दिन 25 नबंबर को उसकी बेटी का पति बनवारी वोट डालने के लिए उसकी बेटी मायके से लेकर गया था और उसके बाद आरोपी जेठ ने उसकी बेटी की हत्या करने के बाद उसे जला दिया.

पीड़ित पिता विजेंद्र कुशवाह ने बताया कि आरोपी ससुराल पक्ष के लोगों ने मायके वालों को सूचना दिए बिना ही साक्ष्य मिटाने के लिए मृतका का दाह संस्कार कर दिया.

मायका पक्ष को बताए बिना किया अंतिम संस्कार

कोलारी थाना प्रभारी मानसिंह ने बताया कि नया नगला गांव में विवाहिता की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हुई है. ससुराल पक्ष के लोगों ने मायके पक्ष के लोगों को बिना सूचना दिए हुए अंतिम संस्कार किया है. उन्होंने बताया प्रारंभिक जांच में मामला संदिग्ध दिखाई दे रहा है. थाना प्रभारी ने कहा कि विवाहिता की मौत के कारणों का खुलासा जांच के बाद हो सकेगा. 

थाना प्रभारी ने बताया कि एमआईयू टीम धौलपुर के प्रभारी लखन राम शर्मा मौके पर बुलाकर विवाहिता की जली चिता से साक्ष्य जुटाए गए हैं. पिता ने ससुराली जनों के खिलाफ नामजद हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की बारीकी से जांच में जुट गई है.

डेढ़ वर्ष पूर्व हुई थी पति की मौत 

मृतका लक्ष्मी के पति राजन की मौत डेढ़ वर्ष पूर्व हो गई थी. पति की मौत हो जाने के बाद से लक्ष्मी अपने जेठ बनवारी लाल से शादी कर दी गई. पिता विजेंद्र सिंह ने आरोप लगाते हुए बताया कि उसका पति बनवारी आए दिन मारपीट करता रहता था और शारीरिक एवं मानसिक रूप से यातनाएं दे रहा था.

वोटिंग के बहाने ले गया फिर की हत्या

पिता के मुताबिक पति बनवारी की यातनाओं के चलते मायके रह रही थी. 25 नवंबर को होने वाले मतदान को लेकर पति बनवारी लक्ष्मी को अपने साथ बुलाकर ले गया था, लेकिन बेटी की हत्या कर बिना सूचना दिए हुए उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया. मृतका पर एक बेटी व एक बेटा है.

ये भी पढ़ें-भरतपुरः किन्नर नीतू ने कराई 10 गरीब बेटियां की शादी, हिन्दू-मुस्लिम एकता की पेश की बड़ी मिसाल

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • 24X7
Choose Your Destination
Close