विज्ञापन
Story ProgressBack

अजमेर नगर निगम में हंगामा: उपायुक्त ने महिला कर्मचारियों को महंगी साड़ी पहनने पर टोका? मेयर ने किया पाबंद

इस मामले में नगर निगम अजमेर की मेयर ब्रज लता हाडा ने भी उपआयुक्त राजलक्ष्मी गहलोत द्वारा महिला कर्मचारियों को कपड़े और लिपस्टिक लगाने वाली बात पर आपत्ति जताई. महापौर ने कहा कि यह महिला कर्मचारियों का व्यक्तिगत मामला है. महापौर ने यह भी कहा कि उपायुक्त को निगम के काम से मतलब होना चाहिए.

Read Time: 4 mins
अजमेर नगर निगम में हंगामा: उपायुक्त ने महिला कर्मचारियों को महंगी साड़ी पहनने पर टोका? मेयर ने किया पाबंद
अजमेर नगर निगम महापौर को समस्या बतातीं महिला कर्मचारी.

Rajasthan News: राजस्थान सरकार के अजमेर नगर निगम (Ajmer Municipal Corporation) की उपायुक्त राजलक्ष्मी गहलोत (Rajshree Gehlot) पर कथित तौर पर नगर निगम आने वाली महिला कर्मचारियों की महंगी साड़ी और होंठों पर लिपस्टिक लगाने पर आपत्ति करने का आरोप लगा है. इसी के चलते महिला कर्मचारियों ने गुरुवार को अजमेर नगर निगम की मेयर ब्रज लता हाड़ा (Braj Lata Hada) को ज्ञापन सौंपा, और कार्रवाई की मांग की. वहीं उपायुक्त राजलक्ष्मी गहलोत ने सभी आरोपो को निराधार बताते हुए कहा कि उन्होंने सिर्फ सहायक कर्मचारियों को वर्दी में आने के लिए कहा था.

'उपायुक्त के कारण तनाव में कर्मचारी'

दरअसल, गुरुवार सुबह चतुर्थ श्रेणी महिला कर्मचारी की कार्यालय आते समय रास्ते में ट्रैक्टर ट्रॉली ड्राइवर द्वारा टक्कर मारे जाने से मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई थी. इसके बाद सभी कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि उपायुक्त द्वारा कार्यालय में तय समय से पहले कर्मचारियों को बुलाया जाता है, और देर शाम तक भी काम कराया जाता है, जिससे सभी कर्मचारी तनाव में रहते हैं. यहां तक की महिला कर्मचारियों के कपड़े और लिपस्टिक लगाने पर भी आपत्ति दर्ज कराई जाती है. अस्थाई महिला कर्मचारी कविता अग्रवाल ने कहा कि सुबह 9:30 बजे के बाद दो-तीन मिनट भी कोई कर्मचारी लेट आता है तो उपस्थिति रजिस्टर उपायुक्त अपने ऑफिस मे मंगवा लेती हैं, और महिला कर्मचारियों को महंगी साड़ी, लिपस्टिक लगाने, बन सवर कर आने और आपकी वर्दी में आने के लिए इस तरीके से रोजाना टोकती हैं. 

महापौर को ज्ञापन देते हुए महिला कर्मचारी और पार्षद

महापौर को ज्ञापन देते हुए महिला कर्मचारी और पार्षद
Photo Credit: NDTV Reporter

मेयर ने उपायुक्त को किया पाबंद

इस मामले में नगर निगम अजमेर की मेयर ब्रज लता हाडा ने भी उपआयुक्त राजलक्ष्मी गहलोत द्वारा महिला कर्मचारियों को कपड़े और लिपस्टिक लगाने वाली बात पर आपत्ति जताई. महापौर ने कहा कि यह महिला कर्मचारियों का व्यक्तिगत मामला है. महापौर ने यह भी कहा कि उपायुक्त को निगम के काम से मतलब होना चाहिए, महिला कर्मचारी क्या पहन कर आती हैं, क्या नहीं. यह उनका काम नहीं है. सरकार ने उनको काम के लिए रखा है, न कि वह महिलाओं के रहन-सहन पर आपत्ति जताने के लिए. महापौर ने उपायुक्त को ऐसा अगली बार नहीं करने के लिए पाबंद भी किया है.

'भारत में मर्जी के कपड़े पहनने का अधिकार'

वहीं इस मामले में नगर निगम की नेता प्रतिपक्ष और अजमेर कांग्रेस से दक्षिण विधानसभा प्रत्याशी रही द्रौपदी कोली (Draupadi Koli) ने भी उपायुक्त के इस तुगलकी फरमान पर आपत्ति जताई. द्रोपती कोहली ने कहा कि नगर निगम की उपायुक्त द्वारा कर्मचारियों को परेशान किया जाता है, जिससे वह काफी तनाव में रहती हैं. भारत देश में महिलाओं को अपनी मर्जी के कपड़े पहनने का अधिकार है. ऐसे में उपायुक्त द्वारा कपड़ों को लेकर आपत्ति करना गलत है, और थोड़ा सा लेट आने पर उनकी अनुपस्थिति लगा दी जाती है. ये भी ठीक नहीं है.

अजमेर नगर निगम उपायुक्त राजश्री गहलोत

अजमेर नगर निगम उपायुक्त राजलक्ष्मी गहलोत
Photo Credit: NDTV Reporter

'वर्दी में आने के लिए कहा, टिप्पणी नहीं की'

हालांकि नगर निगम की उपायुक्त राजलक्ष्मी गहलोत ने उन पर लगे सभी आरोपों को निराधार बताया है. उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार की गाइडलाइन के अनुसार, कर्मचारियों को समय पर आने के लिए कहा गया था. बात रही वर्दी की तो सहायक कर्मचारियों को सरकार की ओर से वर्दी भत्ता मिलता है, तो उन्हें वर्दी में नगर निगम आना चाहिए, जिससे नगर निगम का डेकोरम बना रहे. मेरे द्वारा किसी भी कर्मचारियों को कपड़ों को लेकर और कोई भी व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं की गई. विभाग के उपायुक्त की ओर से जारी इस मौखिक आदेश को लेकर सरकारी कर्मचारियों में चर्चाओं का बाजार गर्म है. कुछ लोग इसे तुगलकी फरमान बता रहे हैं. अजमेर नगर निगम उपायुक्त के इस फरमान के अनुसार सहायक कर्मचारी को सरकार द्वारा जारी की गई वर्दी पहनकर ही कार्यालय में प्रवेश करें. इसके पीछे कार्यालय की गरिमा का हवाला दिया गया है.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
India Post Bharti 2024: डाक विभाग में 10वीं पास के लिए बंपर भर्ती, 44 हजार पदों के लिए आवेदन शुरू
अजमेर नगर निगम में हंगामा: उपायुक्त ने महिला कर्मचारियों को महंगी साड़ी पहनने पर टोका? मेयर ने किया पाबंद
Father's death shown in an accident for Rs 50 lakh, compassionate appointment taken in Banswara
Next Article
बांसवाड़ा: 50 लाख रुपये के लिए पिता की एक्सीडेंट में दिखा दी मौत, ले ली अनुकंपा नियुक्ति; पुत्र समेत 3 गिरफ्तार
Close
;