विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान में बिजली कटौती का असल कारण क्या है? चूरू में गांव से शहर तक नहीं हो रही आपूर्ति

चूरू जिले में बढ़े हुए पारे ने विद्युत विभाग के फ्यूज उड़ा दिए हैं. गर्मी बढ़ने के साथ ही बिजली के उत्पादन और डिमांड का अंतर गहराने से जिले के गांवों से लेकर शहर तक बिजली कटौती की जा रही है.

Read Time: 3 mins
राजस्थान में बिजली कटौती का असल कारण क्या है? चूरू में गांव से शहर तक नहीं हो रही आपूर्ति

Rajasthan Electricity: राजस्थान में भीषण गर्मी की वजह से जहां एक तरह लोग त्राहिमाम हैं, वहीं दूसरी ओर बिजली की आपूर्ति न होने से लोग और ज्यादा परेशान हो रहे हैं. लेकिन बिजली कटौती का असल कारण क्या है. वह राजस्थान के चूरू जिले में हो रही आपूर्ति से समझा जा सकता है. चूरू जिले में बढ़े हुए पारे ने विद्युत विभाग के फ्यूज उड़ा दिए हैं. गर्मी बढ़ने के साथ ही बिजली के उत्पादन और डिमांड का अंतर गहराने से जिले के गांवों से लेकर शहर तक बिजली कटौती की जा रही है. प्रचंड गर्मी के बीच बिजली कटौती से आमजन परेशान है. 

रोजाना 100 लाख यूनिट बिजली की खपत

दरअसल, जिले में  प्रतिदिन लगभग 100 लाख यूनिट बिजली की खपत हो रही हैं , जो 15 मई 2023 के बाद से रोजाना 26 लाख यूनिट ज्यादा हैं. इसके चलते डिस्कॉम को घोषित  अघोषित बिजली कटौती करनी पड़ रही हैं.  जिले में 33 केवी के 10 से ज्यादा GSS ओवरलोड है, इसमें 200 से ज्यादा 11 केवी के फीडर ओवरलोड चल रहे हैं.  ऐसे में 220 केवी जीएसएस से जुड़े फीडरों पर दो-ढाई घंटे तक अघोषित बिजली कटौती की जा रही है. दिन हो या रात हर वक्त ट्रिपिंग हो रही है. लो वोल्टेज और बिजली ट्रिप की समस्या ने उपभोक्ताओं को परेशान कर रखा है.

मरम्मत करने में आ रही दिक्कत

पिछले पखवारे भर से बिजली की आवाजाही से लोगों की समस्या बढ़ गई है. लोगों ने गर्मी से बचाव के लिए कूलर और एसी की व्यवस्था की है, लेकिन ये सभी केवल सोपीस बनकर रह गए हैं. कमोबेश प्रतिदिन की स्थिति यह है कि दिन में 8 से 10 बार बिजली ट्रिप करती है. एक बार बिजली गई, तो आधे से एक घंटे की प्रतीक्षा आम है. कई बार मरम्मत के नाम पर चार से पांच घंटों तक बिजली आपूर्ति बंद हो जाती है. ऐसे में नागरिकों का पारा सातवें आसमान पर पहुंचता है. वहीं गर्मी बढ़ने के साथ थी विद्युत का डिमांड भी बढ़ गई है. ऐसे में ट्रांसफर में आग लगना, वायर जलना, बार-बार फ्यूज उड़ना  आम हो गया है जिसके कारण भी लाइट काटी जा रही हैं.

भीषण गर्मी के कारण शुक्रवार रात रतनगढ़ में परशुराम अतिथि भवन के सामने लगा ट्रांसफॉर्मर ओवरलोड होने के कारण भभक उठा. स्पार्किंग के बाद ट्रांसफार्मर में आग लग गई. करीब 900 उपभोक्ता 45 मिनट अंधेरे में रहे. चूरू में शनिवार दोपहर रीको में पीएमसी की केबल फॉल्ट से जल गई, जिसके कारण आधा शहर कई घंटे तक बिना बिजली के रहा.

बिजली कटौती नहीं फॉल्ट से हो रही बिजली कटौती

वहीं विभाग के अधिकारी को कहना है कि हमारी ओर से बिजली कटौती नहीं की जा रही है, लेकिन फाल्ट आने पर फ्यूज उड़ने पर या कहीं वायर या ट्रांसफर जलने पर उसे ठीक करने समय शटडाउन लिया जाता है तभी बिजली कटौती की जा रही है. हमारी ओर से प्रयास किया जा रहा है कि उपभोक्ताओं को परेशान ना हो. 

यह भी पढ़ेंः सीएम भजनलाल शर्मा ने राजस्थान में बिजली-पानी आपूर्ति के दिए बड़े निर्देश, जानें कहां कर सकते हैं आप शिकायत

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan Weather: राजस्थान में बारिश ने गर्मी से दिलाई राहत, जानिए एक हफ्ते कैसा रहेगा मौसम
राजस्थान में बिजली कटौती का असल कारण क्या है? चूरू में गांव से शहर तक नहीं हो रही आपूर्ति
Jaipur Airport Bomb Threat: Threatening mail again arrived at Jaipur Airport, written bomb in terminal building Search continues
Next Article
जयपुर एयरपोर्ट पर फिर आया धमकी भरा मेल, लिखा- टर्मिनल बिल्डिंग में बम है, सभी मारे जाएंगे... सर्च जारी
Close
;