विज्ञापन
Story ProgressBack

Rajasthan Politics: उपचुनाव में दौसा से कांग्रेस लगाएगी नरेश मीणा पर दांव ? या कोई और होगा उम्मीदवार

लोसकभा चुनाव प्रचार के दौरान नरेश मीणा ने तब विधायक रहे मुरारी लाल मीणा से पूछा था, ''आप टिकट ले आए, आप सांसद बन जाओगे. आपकी बेटी दौसा से विधायक बन जाएगी, हमारा नंबर कब आएगा? आपका तो फर्ज बनता है कि आप हमारे लिए टिकट मांगते."

Rajasthan Politics: उपचुनाव में दौसा से कांग्रेस लगाएगी नरेश मीणा पर दांव ? या कोई और होगा उम्मीदवार
दौसा सीट पर होने वाले उपचुनाव में नरेश मीणा फिर कांग्रेस से टिकट मांग सकते हैं

Dausa Assembly By-elections: राजस्थान में हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में पांच विधानसभा सीटें ऐसी हैं जहां के विधायक सांसद बन गए हैं. उनमें से एक दौसा विधानसभा सीट भी है. इस सीट विधायक मुरारी लाल मीणा ने लोकसभा चुनाव जीता है. जिसके बाद अब यहां उपचुनाव होगा. हालांकि अभी उपचुनाव की घोषणा नहीं हुई है लेकिन विधानसभा और बाद में लोकसभा चुनावों में टिकट मांग रहे नेता सक्रिय हो गए हैं.

विधानसभा चुनाव में जिन टिकट के जिन उम्मीदवारों को दिलासा दी गई थी वो अब सबसे प्रबल दावेदर माने जा रहे हैं. विधानसभा चुनाव में दौसा सीट पर दावेदारों की लम्बी लिस्ट थी और मुरारी लाल मीणा को टिकट मिलने के बाद भी वो थमी नहीं. लेकिन इस बगावत में उफान जब आया जब लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने मुरारी लाल मीणा को टिकट दे दिया. जिसके बाद नरेश मीणा ने बगावत कर दी थी. नरेश ने नामांकन भी कर दिया था लेकिन बाद में वापस ले लिया. 

नरेश मीणा सबसे प्रबल दावेदार ! 

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान नरेश मीणा ने मुरारी लाल के साथ मंच साझा करते हुए कहा था, ''आप टिकट ले आए, आप सांसद बन जाओगे. आपकी बेटी दौसा से विधायक बन जाएगी, हमारा नंबर कब आएगा? आपका तो फर्ज बनता है कि आप हमारे लिए टिकट मांगते. आपके तो बच्चे नहीं हैं, हम तो आपके बच्चे हैं. आपको सचिन पायलट से कहना चाहिए था कि आप नरेश को टिकट दो.''

इतनी खुली बगावत के बाद अब कांग्रेस इस बात को लेकर अधिक सचेत है कि किसे टिकट दिया जाए. ऐसे में नरेश मीणा विधानसभा उपचुनाव में टिकट के सबसे प्रबल दावेदार हो सकते हैं. 

जातिगत समीकरण बदले तो खटाणा भी दावेदार

दौसा विधानसभा सीट पर एक और दावेदार हैं जो टिकट की मांग कर सकते हैं. वो हैं गजराज खटाणा. खटाणा को सचिन पायलट का नजदीकी माना जाता है. वो सचिन पायलट के पिता राजेश पायलट के समय से पायलट परिवार से जुड़े हैं. अगर कांग्रेस विधानसभा चुनाव में मीणा की जगह गुर्जर समुदाय से टिकट देती है तो खटाणा का नाम सबसे आगे हो सकता है. 

गजराज खटाणा ने 2008 के विधानसभा क्षेत्र बांदीकुई विधानसभा से चुनाव लड़ा लेकिन हार गए थे. उसके बाद उन्हें 2018 में यहीं से टिकट मिला और वो जीते. लेकिन पिछले चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा. हालांकि उनकी आखिरी हार  टिकट पाने की राह में रोड़ा बन सकती हैं. 

यह भी पढ़ें- राजस्थान बजट में सीएम-डिप्टी CM की कांस्टिट्यूसी पर ज्यादा फोकस, गृह क्षेत्र के लिए हुए कम ऐलान


 

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan News: 5 साल से फरार ड्रग्स तस्कर गिरफ्तार, कश्मीर से लेकर केरल तक देता रहा चकमा
Rajasthan Politics: उपचुनाव में दौसा से कांग्रेस लगाएगी नरेश मीणा पर दांव ? या कोई और होगा उम्मीदवार
CP Joshi claims that he will win all five seats in the by-elections, said- Sachin Pilot is not a challenge.
Next Article
सीपी जोशी का दावा उपचुनाव में जीतेंगे पांचों सीट, कहा- सचिन पायलट कोई चुनौती नहीं...
Close
;