विज्ञापन
Story ProgressBack

Rajasthan Politics: बारां नगर परिषद के पूर्व सभापति पर जयपुर में दर्ज हुईं 2 FIR, पूर्व मंत्री से चला रहा था विवाद

जयपुर थाने में कमल राठौड़ के खिलाफ 1 जून 2024 को दो मामले दर्ज होने के बाद उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि पूर्व खान मंत्री प्रमोद जैन भाया पर भ्रष्टाचार व घोटाले के कई आरोप लगे हैं. मुकदमों के डर से पूर्व खान मंत्री बौखला गए हैं.

Rajasthan Politics: बारां नगर परिषद के पूर्व सभापति पर जयपुर में दर्ज हुईं 2 FIR, पूर्व मंत्री से चला रहा था विवाद
बारां नगर परिषद के पूर्व सभापति कमल राठौड़.

Rajasthan News: राजस्थान में बारां नगर परिषद (Baran Municipal Council) के पूर्व सभापति रहे कमल राठौड़ (Kamal Rathore) के खिलाफ जयपुर के शिप्रा पथ थाने (Police Station-Shipra Path) दो मुकदमें दर्ज हुए हैं, जो राजस्थान सरकार में पूर्व खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया (Pramod Jain Bhaya) ने दर्ज कराए हैं. इसके जरिए मंत्री ने राठौड़ पर फर्जी दस्तावेज और सरकारी दस्तावेजों में काट छाट करने के आरोप लगाए हैं.

मंत्री ने पुलिस को बताया कि, 'बारां नगर परिषद के पूर्व सभापति कमल राठौड़ व भाजपा नेता रामेश्वर खंडेलवाल द्वारा कूटरचित रिकमेंडेशन लेटर अंता पुलिस को पेश किया गया. उसमे अंकित दिनांक में काट छाट, व प्रथम पैरा की तीसरी पंक्ति में रिक्त स्थान हैं, जिससे यह दस्तावेज स्वत: ही कूटरचित होना स्पष्ट है. उक्त मामले में आपराधिक तथ्यों के आधार पर एफआईआर नंबर 543 में धारा 193,196, 200,211, 465, 469, 471, 120-B में मुकदमा दर्ज किया गया है.'

वहीं दूसरा मामला भाजपा पार्षद विजय पिपलानी द्वारा कमल राठौड़ और नगर परिषद कार्मिकों के साथ मिलकर कूटरचित और फर्जी  9/9/12 की पत्रावाली शामिल करने को लेकर है, जहां नॉन ज्यूडिशियल टिकट चस्पा है. मंत्री का आरोप है कि वह किसी स्टाम्प से उखाड़कर कूटरचित तरीके से चस्पा करना स्पष्टता दर्शाता है. उक्त प्रकरण में एफआईआर संख्या 542 में 193, 200, 211, 466, 468, 469, 471, 477, 408, 409, 379, 120-B धाराओं में प्रकरण दर्ज हुआ है. पूर्व सभापति कमल राठौड़ के खिलाफ पूर्व में भी न्यायालय में अन्य मामले विचाराधीन हैं.

पहले से चल रहा है विवाद

गौरतलब है कि कमल राठौड़ पूर्व में भाजपा में थे, लेकिन वह भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए. कांग्रेस में शामिल होने के बाद वो कांग्रेस से ही बारां नगर परिषद के सभापति बना दिए गए. उसके बाद कमल राठौड़ का सभापति पद पर रहते हुए पूर्व मंत्री प्रमोद जैन भाया के राजस्थान सरकार में खान, गोपालन, पेट्रोलियम मंत्री रहते आपस में विवाद बढ़ता चला गया. विधानसभा चुनावों से पहले कमल राठौड़ ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा पार्टी में शामिल हो गये. विधानसभा चुनावों के बाद से ही कमल राठौड़ के द्वारा कई कांग्रेस जनों पर बारां जिले के अलग अलग थानों में अलग-अलग मुकदमे दर्ज करवाए हैं. अब पूर्व मंत्री प्रमोद जैन भाया ने कमल राठौड़ के खिलाफ जयपुर के थाने में दो अलग अलग मुकदमें दर्ज करवाये हैं.

'पूर्व मंत्री बौखला गए हैं'

बारां नगर परिषद के तात्कालिक सभापति प्रेम शंकर सांखला के निधन के बाद 14 जनवरी 2018 से अगस्त 2020 तक कमल राठौड़ बारां नगर परिषद के सभापति रहे हैं. जयपुर थाने में कमल राठौड़ के खिलाफ 1 जून 2024 को दो मामले दर्ज होने के बाद उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि पूर्व खान मंत्री प्रमोद जैन भाया पर भ्रष्टाचार व घोटाले के कई आरोप लगे हैं. बारां ही नहीं, अपितु पूरे राजस्थान में अवैध खनन के इनके कई मामले हैं. साथ ही पूर्व सभापति ने आरोप लगाया है कि मुकदमों के डर से पूर्व खान मंत्री बौखला गए हैं. इसको लेकर वह जयपुर में मुकदमे दर्ज करा कर रहे हैं, जबकि वह रहने वाले बारां के हैं. अगर ऐसा था तो बारां में ही मुकदमे दर्ज करवाने थे. अब उनको आमजन पहचान चुकी है.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
आनंदपाल एनकाउंटर में शामिल पुलिसकर्मियों को गहलोत सरकार ने दिया था स्पेशल प्रमोशन, अब चलेगा हत्या का केस
Rajasthan Politics: बारां नगर परिषद के पूर्व सभापति पर जयपुर में दर्ज हुईं 2 FIR, पूर्व मंत्री से चला रहा था विवाद
BJP MLA Samaram Garasia said tribal who do not consider himself a Hindu should not get benefit of reservation
Next Article
Rajasthan Politics: जो आदिवासी ख़ुद को हिंदू नहीं मानते, उन्हें आरक्षण का लाभ न मिले- BJP विधायक
Close
;