विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान में धर्मांतरण का चल रहा पूरा रैकेट! इस कंपनी के संपर्क में हैं लाखों लोग

भरतपुर में धर्मांतरण का मामला सामने आने के बाद आशंका जताई जा रही है कि इसका खेल पूरे राजस्थान में हो सकता है.

Read Time: 5 min
राजस्थान में धर्मांतरण का चल रहा पूरा रैकेट! इस कंपनी के संपर्क में हैं लाखों लोग
भरतपुर में धर्म परिवर्तन के मामले में बड़े खुलासे हुए हैं.

Rajasthan Religious Conversion: राजस्थान के भरतपुर में धर्म परिवर्तन का मामला हाल ही में 11 फरवरी को सामने आया था. जिसमें एक निजी होटल में करीब 400 से भी ज्यादा लोगों का धर्मांतरण किया जा रहा था. हालांकि, इससे पहले ही सूचना पर पहुंचे बीजेपी, बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा इसे रोका गया था. वहीं पुलिस ने भी इस मामले में दर्जनों लोगों को हिरासत में लिया था. लेकिन इसमें दो लोगों ऐसे हैं जो मास्टरमाइंड है. अब इन लोगों से पूछताछ हो रही है. वहीं, बाकी जो लोग हिरासत में थे उन्हें पाबंद कर छोड़ दिया गया है. सबसे बड़ी बात यह है कि भरतपुर में 400 लोगों का जो धर्मांतरण हो रहा था. उसमें भरतपुर से कुछ ही लोग थे जबकि सबसे ज्यादा लोग उत्तर प्रदेश से शामिल थे. जिन्हें पैसों का प्रलोभन, बीमारी से मुक्त कराने का प्रलोभन देकर उनसे यह करवाया जा रहा था. कुछ लोग इसे प्राथर्ना समझ रहे थे लेकिन असल में यह धर्मांतरण का काम हो रहा था.

कौन लोग है इसमें गिरफ्तार

धर्मांतरण मामले में जो दो लोग मुख्य रूप से गिरफ्तार हैं उनमें से एक है कुंवर सिंह जो भरतपुर का ही रहने वाला है. जबकि एक है शैलेंद्र सिंह जो उत्तर प्रदेश के फिरोजपुर का रहने वाला है. यह दोनों मिलकर ही इस पूरे आयोजन को करवा रहे थे. बताया जा रहा है कि इसके लिए उन्हें पैसे भी मिल रहे थे. कुंवर सिंह को इसके लिए करीब 1 लाख रुपये दिया गया था. हालांकि, पुलिस और छानबिन कर रही है. वहीं, इस आयोजन में कुंवर सिंह ही पत्नी भी शामिल थी. जिसका कहना है कि

उन्होंन किसी तरह का धर्मांतरण नहीं किया है और न ही किसी को धर्म परिवर्तन के लिए उकसाया है. उन्होंने कहा मैं लंबे समय से बीमार हूं और मुझे हार्ट की बीमारी है. डॉक्टर ने मुझे कुछ ही दिनों का मेहमान बताया है इसलिए अस्पताल में ही कुछ लोगों ने इस सभा के बारे में बताया इस सभा में मरीज के स्वस्थ होने के लिए प्रेयर करवाते हैं जब से मैं इन लोगों की सभा में शामिल हुई मैं बिल्कुल ठीक हूं. हमें किसी के द्वारा दबाव नहीं डाला जाता जबकि खुद की आस्था होती है. हमें इस मामले में फंसाया जा रहा है.

इस मामले में पूरी बातों का खुलासा एडवोकेट संदीप गुप्ता ने बताया है जिन्होंने सबसे पहले मामले का खुलासा किया. उन्होंने बताया की एक शादी के लिए बुकिंग करने होटल पहुंचे थे. जहां उन्हें कमरा दिखाया जा रहा था. लेकिन इस समय होटल के एक हॉल में धर्मांतरण का कार्यक्रम चल रहा था. यहां काफी संख्या में ईसाई ड्रेस पहन कर करीब 400 लोगों को ईसाह मशीह के बारे में बताया जा रहा था. साथ ही बाइबिल भी हाथों में दी जा रही थी. इसके अलावा हिंदू देवी-देवताओं पर टिप्पणी की जा रही थी. स्टेज पर दवाईयां भी रखी थी जो लगों को बीमारी के इलाज के लिए दिया जा रहा था. वहीं, संदीप ने बताया कि जब इसे मैं मोबाइल में रिकॉर्ड करना चाहा तो कुंवर सिंह ने मेरा फोन हटा दिया. 

इसके साथ ही जब इस कार्यक्रम के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि यह आम बात है और भरतपुर में करीब 20 जगहों पर कार्यक्रम  चल रहा है. इसके बाद संदीप गुप्ता ने अपने परिचित लोगों को मौके पर पहुंचने के लिए कहा और पुलिस को भी सूचना दी.

LMN कंपनी के टच में है लाखों लोग

बताया जा रहा है कि गिरफ्तार हुए लोग एलएमएन कंपनी (LMN Company) के संपर्क में थे. जो जगह-जगह कार्यक्रम कर लोगों को प्रलोभन देकर धर्मांतरण करवाते हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि इससे लाखों लोग जुड़े हैं. यह कंपनी लोगों को बाइबिल भी गिफ्ट करती है. बताया जा रहा है कि कुंवर और शैलेस भी इस कंपनी से जुड़े हुए हैं. वहीं भरतपुर में पकड़े गए आरोपी कुंवर सिंह को इस काम के लिए चंडीगढ़ से प्रोफेट विजेंदर सिंह के द्वारा प्रति माह बैंक अकाउंट में 1 लाख रुपये भेजा जा रहा था.

अटलबंध पुलिस थाना द्वारा आरोपी कुंवर सिंह और शैलेंद्र सिंह को न्यायालय में पेश किया गया. जहां से न्यायाधीश द्वारा दोनों आरोपियों को चार दिन का रिमांड दिया गया है. अब अटलबंद थाना पुलिस आरोपियों को चंडीगढ़ ले जाकर के पूछताछ करेगी.

इस मामले को भरतपुर पुलिस के द्वारा गंभीरता से लिया गया है और आईजी राहुल प्रकाश मॉनिटरिंग कर रहे और में जांच कर रहा हूं. निजी सूत्रों के माध्यम से मिली जानकारी के अनुसार गरीब तबके के लोगों को पैसे एवं अन्य चीज का प्रलोभन धर्मांतरण का कार्य बड़े स्तर पर किया जा रहा है. इन लोगों के द्वारा हजार नहीं दो हजार नहीं बल्कि लाखों लोगों को टारगेट किया गया है. भरतपुर में पकड़ा गया आरोपी कुंवर सिंह जिसके के लिए चंडीगढ़ से प्रोफेट विजेंदर सिंह के द्वारा प्रति माह बैंक अकाउंट में इस कार्य के लिए एक लाख रुपए आता था. इसके द्वारा जगह जगह गरीब तबके के लोगो को पैसे के प्रलोभन के साथ साथ रोजगार उपलब्ध कराने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलवाने, बीमारी का उपचार करवाने,बच्चों की शादी करवाने आदि चीज का प्रलोभन दिया जाता था. इस पूरे मामले की जांच के लिए भरतपुर पुलिस के द्वारा एसआईटी का गठन किया गया है. जिससे यह पता लगाया जा सके कि इसमें कौन-कौन शामिल हैं कितने बड़े स्थर पर यह कार्य किया जा रहा है और इसकी फंडिंग कहां से हो रही है. जो इस पूरे मामले की तह तक जाएगी.

यह भी पढ़ेंः Jat Reservation Row: दूसरे दौर की वार्ता के लिए जाट समाज के 8 सदस्य दिल्ली रवाना, बात नहीं बनी तो तेज होगा आंदोलन

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close