विज्ञापन
Story ProgressBack

बजट में 4 करोड़ पेड़ लगाने के ऐलान के बीच, राजस्थान में दबंगों ने काटे हजारों बीघा जमीन पर पेड़

राजस्थान के बारां जिले में दबंगों ने हजारों बीघा जमीन पर जंगल के पेड़ काट कर अपना कब्जा जमा लिया है. शिकायत के बाद भी वन विभाग से लेकर पुलिस प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठी है.

Read Time: 3 min
बजट में 4 करोड़ पेड़ लगाने के ऐलान के बीच, राजस्थान में दबंगों ने काटे हजारों बीघा जमीन पर पेड़
प्रतिकात्मक फोटो

Rajasthan News: राजस्थान सरकार ने अपने लेखानुदान (बजट) (Rajasthan Budget) में कई बड़े ऐलान किये हैं. इनमें से एक ऐलान सरकार ने पेड़ पौधों को लेकर किया है. सरकार ने ऐलान किया है कि प्रदेश में Tree Outside Forest in Rajasthan कार्यक्रम के तहत 4 करोड़ पौधे लगाए जाएंगे. जबकि राजस्थान फॉरेस्ट एंड बायो डायवरसिटी डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत वृक्षारोपण, ओरण विकास, पौध वितरण और आजीविका संवर्द्धन गतिविधियों के लिए 300 करोड़ रुपये का कार्य करवाया जाएगा. इसके सात ही अरावली हिल्स की सुरक्षा के लिए यहां 30 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में वृक्षारोपण किया जाएगा. लेकिन दूसरी ओर खबर सामने आई है कि प्रदेश में दबंगों ने हजारों बीघा जमीन पर पेड़ काटकर जंगल को उजाड़ दिया है. 

दरअसल, राजस्थान के बारां जिले में वन विभाग की लापरवाही सामने आई है. इसके वजह से हजारों बीघा जंगल पर दंबगों ने कब्जा जमालि याहै. वहीं, दबंग पेड़ काटकर फसल उगा रखी है. दबंगों द्वारा पेड़ काटने का सिलसिला वर्षों से चला आ रहा है. लेकिन इससे वन विभाग और पुलिस प्रशासन अंजान बनी हुई है. जबकि ग्रामीणों ने दर्जनों बार वन विभाग सहित प्रशासन के आला अधिकारियों को इसके बारे में जानकारी दी. इसके साथ ही ज्ञापन भी सौंपा हैं. जिसमें कहा गया है कि जंगल को दबंगों से मुक्त किया जाए. लेकिन राजनीतिज्ञ दबंगों के सामने प्रशासन सहित वन विभाग बोना साबित हो रहा है.

Add image caption here

जंगल बचाने के लिए प्रदर्शन

जंगल बचाने के लिए प्रदर्शन

हाल ही में नए जिला कलेक्टर रोहिताश्व सिंह तोमर ने भी अभियान चलाकर सरकारी जमीन को अतिक्रमण मुक्त करने के संबंधित विभागों को आदेश दिए है. फिर भी नेताओं से दबे अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर सके. गरीबों के छोटे अतिक्रमण को ही हटाकर रह अधिकारी वाहवाही ले रहे हैं. ऐसे में गुरुवार को किशनगंज तहसील के कांकडदा गांव के 100 से भी अधिक महिला पुरुष जंगल को अतिक्रमण मुक्त कराने की मांग को लेकर लिखी तक्तियां लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे. वहां, गौ माता को बचाना है जंगल मुक्त करना है के नारे लगाते हुए जमकर प्रदर्शन किया.

सीएम के नाम ज्ञापन देकर 24 घंटे की चेतावनी

साथ ही जिला कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देकर चेतावनी दी है कि यदि 24 घंटे के अंदर जमीन को मुक्त नहीं कराया गया तो वह नेशनल हाईवे 27 को जाम करेंगे.  ग्रामीण बृजमोहन और रामहेत ने बताया कि 10 -12 व्यक्तियों ने काफी वर्ष से हजारों बीघा जमीन से पेड़ काट कर फसल बुवाई कर कब्जा कर रखा है . हाल ही में दो-तीन व्यक्तियों ने 600 बीघा जमीन पर और कब्जा कर लिया है. वह तहसीलदार, एसडीएम से लेकर वन विभाग व जिला कलेक्टर को बारी-बारी से अवगत कराते आए हैं. लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है.  उन्होंने 24 घंटे में कार्रवाई नहीं होने पर चार गांव के ग्रामीण मिलकर काकड़ादा रोड के सामने एनएच 27 को जाम करने की चेतावनी दी है. 

यह भी पढ़ेंः राजस्थान में किन लोगों को मिलेगी 300 यूनिट फ्री बिजली, क्या आप हैं 5 लाख परिवार के दायरे में?

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close