विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान में रोजगार और नौकरी के ऐलान का कंफ्यूजन करें दूर, जानें क्या हुई है असल घोषणाएं

राजस्थान बजट में रोजगार और नौकरी के लिए जो घोषणाएं हुई हैं, जिसपर लोगों का और खासकर युवाओं का ध्यान इस पर है.

Read Time: 4 mins
राजस्थान में रोजगार और नौकरी के ऐलान का कंफ्यूजन करें दूर, जानें क्या हुई है असल घोषणाएं
राजस्थान में नौकरी और रोजगार

Jobs in Rajasthan Budget 2024: राजस्थान की भजनलाल सरकार की पहली बजट में खूब सारी घोषणाएं की गई हैं. लेकिन वित्त मंत्री दिया कुमारी ने जो प्रदेश के लिए बजट पेश किया है, उसमें सबसे बड़ी बात रोजगार और नौकरियों के लिए है. चूकि राज्य की जनता और युवा का चुनाव से पहले और चुनाव के बाद का मुद्दा रोजगार और नौकरी ही थी. इस वजह से बजट में रोजगार और नौकरी के लिए जो घोषणाएं हुई हैं, जिसपर लोगों का और खासकर युवाओं का ध्यान इस पर है. राजस्थान में नौकरी और रोजगार के लिए लगातार पलायन हो रहा है. ऐसे में राजस्थान की नई बीजेपी सरकार से युवाओं को काफी उम्मीदें है.

राजस्थान बजट में रोजगार और नौकरी के लिए जो घोषणाएं हुई है. उन्हें लेकर कुछ युवाओं में कंफ्यूजन भी है. चूकि सोशल मीडिया पर 10 लाख नौकरी की बात की जा रही है. ऐसे में खुशी है कि इतनी संख्या में युवाओं को जॉब्स मिलने वाले हैं. हालांकि, यह भी कहा गया है कि इस साल यानी 2024 में 1 लाख भर्ती किया जाना प्रस्तावित है. ऐसे में युवाओं को नौकरी और रोजगार को लेकर कंफ्यूजन दूर करना बेहद जरूरी है.

नौकरी और रोजगार दो अलग-अलग बातें

सबसे पहले जान लें कि नौकरी और रोजगार दो अलग-अलग शब्द है, जिसका बजट के अंदर चर्चा की गई है. यहां नौकरी को भर्ती बताया गया है. जबकि रोजगार के कई साधन और अवसर हैं. यह विभिन्न साधनों से उपलब्ध कराए जाएंगे. जिसमें युवाओं का सरकारी भर्ती और निजी भर्ती के अलावा Skill Development के जरिए उन्हें रोजगार के अवसर के लिए बनाया जाएगा. इसके जरिए रोजगार राज्य अन्य राज्य, देश और विदेश भी हो सकते हैं. इसमें स्टार्टअप भी हो सकते हैं.

4 लाख भर्ती 5 सालों में

सरकार के बजट में जो घोषणाएं की गई है, उसमें बताया गया है कि सरकार द्वारा 5 सालों में 4 लाख भर्तियां करने का संकल्प लिया गया है. यानी 5 साल की सरकार के दौरान 4 लाख नौकरियां प्रस्तावित की जा सकती हैं. जबकि सरकार ने कहा है कि इस साल यानी 2024 में 1 लाख से अधिक पदों पर भर्ती किया जाना प्रस्तावित है. इसे पूरा करने के लिए सरकार समयबद्ध रूप से भर्ती परीक्षाएं कराये जाने की पहल की जाएगी. इसके लिए सरकार परीक्षाओं का कैलेंडर जारी करेगी. हालांकि इससे पहले सरकार ने अपने अंतरिम बजट में 70 हजार पदों पर भर्ती करने की घोषणा की थी. इसमें सरकार का कहना है कि 20 हजार युवाओं को नियुक्ति प्रदान की गई है.

10 लाख रोजगार के अवसर

सरकार ने बजट में 10 लाख से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाये जाने का ऐलान किया है. इसके लिए 'युवा नीति-2024 योजना' लाये जाने का ऐलान किया गया है. इसके तहत सरकारी और निजी क्षेत्रों में SKill Upgradation के साथ रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे. इसके लिए युवाओं को AI आधारित काउंसलिंग की सुविधा, अप्रेंटिस या इंटरर्नशिप प्रोग्राम चलाया जाएगा. युवाओं में कौशल क्षमता का विकास कर उन्हें रोजगार के लायक बनाने के लिए State Skill Policy के जरिए वर्तमान में चल रहे पाठ्यक्रमों को प्रासंगिक बनाकर 2 साल में 1.50 लाख युवाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी.

इसके अलावा स्टार्टअप स्थापित करने के लिए Atal Entrepreneurship Programme चलाये जाने की घोषणा की गई है. इसमें i-Start Fund के तहत 10 करोड़ रुपये तक की फंडिंग सुविधा उपलब्ध कराया जाना प्रस्तावित है. जबकि स्टार्टअप को Equity Funding के जरिए आर्थिक सहायता देने के लिए 100 करोड़ रुपये से Fund of Fund बनाया जाना प्रस्तावित है.

यह भी पढ़ेंः बजट में रविंद्र भाटी की शिव विधानसभा और वसुंधरा की योजना की अनदेखी, जानें बाड़मेर को क्या मिला और क्या है निराशा

यह भी पढ़ेंः राजस्थान के किसानों के लिए बजट में हुई यह 5 अहम घोषणाएं, इजराइल जाएंगे 100 किसान

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Vegetables Price: राजस्थान में फलों से ज्यादा महंगी मिल रही हैं सब्जियां, 120 रुपए किलो में बिक रहा टमाटर
राजस्थान में रोजगार और नौकरी के ऐलान का कंफ्यूजन करें दूर, जानें क्या हुई है असल घोषणाएं
Who is Shiv Singh Shekhawat, who had a dispute with Mahipal Makrana in Jaipur, received death threats in June
Next Article
कौन हैं शिव सिंह शेखावत, जिनका जयपुर में महिपाल मकराना से हुआ विवाद, जून में मिली थी जान से मारने की धमकी
Close
;