विज्ञापन
Story ProgressBack

राजस्थान की पूर्व राज्यपाल कमला बेनीवाल को कांग्रेस के झंडे में लपेटकर दी गई अंतिम विदाई

गुजरात, त्रिपुरा व मिजोरम की पूर्व राज्यपाल, राजस्थान की पूर्व उप मुख्यमंत्री, राजस्थान की पहली महिला मंत्री डॉ कमला बेनीवाल ने कल शाम 4 बजे उनके अंतिम सांस ली थी. आज उनका अंतिम संस्कार किया गया.

राजस्थान की पूर्व राज्यपाल कमला बेनीवाल को कांग्रेस के झंडे में लपेटकर दी गई अंतिम विदाई

Rajasthan News: भले ही पुत्र आलोक बेनीवाल (Alok Beniwal) कांग्रेस का साथ छोड़कर भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो गए हों, लेकिन लंबे वक्त तक राजस्थान कांग्रेस (Congress) की सियासत का बड़ा चेहरा रहीं कमला बेनीवाल (Kamla Beniwal) को कांग्रेस के झंडे में लपेटकर ही अंतिम विदाई दी गई. राजस्थान की पूर्व उपमुख्यमंत्री व पूर्व राज्यपाल कमला बेनीवाल का आज अंतिम संस्कार किया गया. 

इससे पहले उनके आवास पर पार्थिव देह को अंतिम दर्शनों के लिए रखा गया था, जहां पहुंचकर मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा (Bhajan Lal Sharma) सहित बड़े नेताओं ने श्रद्धांजलि अर्पित की. राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasra) ने पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी. बेनीवाल की पार्थिव देह पर कांग्रेस का झंडा दिखाई दे रहा था. कमला बेनीवाल के पुत्र आलोक बेनीवाल हाल ही में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आ गए, लेकिन कमला बेनीवाल तो कांग्रेस के झंडे में ही दुनिया से विदा हुई.

राजस्थान की पहली महिला मंत्री थीं

गुजरात, त्रिपुरा व मिजोरम की पूर्व राज्यपाल, राजस्थान की पूर्व उप मुख्यमंत्री, राजस्थान की पहली महिला मंत्री डॉ कमला बेनीवाल ने कल शाम 4 बजे उनके अंतिम सांस ली थी. डॉ कमला बेनीवाल ने स्कूली जीवन में स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लिया. उसके बाद उन्होंने वनस्थली विद्यापीठ से उच्च शिक्षा प्राप्त की, जिससे बाद उन्होंने शिक्षक के रूप में भी कार्य किया. डॉ कमला बेनीवाल ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत आमेर विधानसभा क्षेत्र से विधायक के रूप में की. इसके बाद वो विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हुए 7 बार विधानसभा पहुंची, लेकिन उन्होंने अपनी कर्मस्थली के रूप में शाहपुरा-बैराठ विधानसभा क्षेत्र को चुना.

इन मंत्रालयों की संभाली थी जिम्मेदारी

डॉ कमला बेनीवाल बेनीवाल ने गुजरात, मिजोरम व त्रिपुरा के राज्यपाल के रूप में भी कार्य किया. डॉ कमला बेनीवाल ने गृह विभाग, शिक्षा विभाग, राजस्व विभाग, ऊर्जा विभाग, संस्कृत शिक्षा, ग्रामीण विकास, कृषि विभाग, सिंचाई विभाग, आयुर्वेद, इंद्रा गांधी नहर परियोजना समेत विभिन्न विभागों में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए सदैव याद किया जाएगा. डॉ कमला बेनीवाल के परिवार में 4 बेटियां, एक बेटा, 1 पौत्री व 1 पौत्र हैं. उनके बेटे आलोक बेनीवाल भी शाहपुरा से विधायक रह चुके हैं.

ये भी पढ़ें:- अरविंद केजरीवाल के बयान में वसुंधरा राजे का जिक्र, पीएम मोदी के उत्तराधिकारी को लेकर दिया बड़ा बयान

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
फोन टैपिंग मामले में राजस्थान सरकार हुई सक्रिय, अशोक गहलोत को घेरने की बना रही यह रणनीति
राजस्थान की पूर्व राज्यपाल कमला बेनीवाल को कांग्रेस के झंडे में लपेटकर दी गई अंतिम विदाई
4 soldiers including constable from Jhunjhunu martyred in Jammu and Kashmir's Dota, CM Bhajan Lal pays tribute
Next Article
Encounter in Doda: जम्मू-कश्मीर के डोडा में झुंझुनू के 2 जवान समेत 4 शहीद, सीएम भजनलाल ने दी श्रद्धांजलि
Close
;