विज्ञापन
Story ProgressBack

अपना नामांकन गुप्त क्यों रखना चाहते थे शेखावत? PA ने कहा- दो बजे तक खबर नहीं चलाना... दूसरे नॉमिनेशन में CM भी थे मौजूद

Gajendra Singh Shekhawat Nomination: जोधपुर लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में उतरे केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने शनिवार को दो बार नामांकन भरा. उनके दूसरे नॉमिनेशन के समय सीएम भजनलाल शर्मा भी मौजूद थे. हालांकि शेखावत अपना पहला नॉमिनेशन गुप्त रखना चाहते थे. उनका PA यह कहता सुनाई पड़ा कि दो बजे तक खबर नहीं चलाना.

Read Time: 5 min
अपना नामांकन गुप्त क्यों रखना चाहते थे शेखावत? PA ने कहा- दो बजे तक खबर नहीं चलाना... दूसरे नॉमिनेशन में CM भी थे मौजूद
मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के साथ निर्वाचन अधिकारी को नॉमिनेशन पर्चा देते केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत.

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान की प्रक्रिया जारी है. शनिवार को कई प्रत्याशियों ने अपना नामांकन पर्चा दाखिल किया. इसमें राजस्थान की जोधपुर लोकसभा सीट (Jodhpur Lok Sabha Seat) से केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekawat) भी शामिल हैं. शेखावत के नामांकन में मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा भी शामिल थे. लेकिन शेखावत के नामाकंन के बीच उनके पीए का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें गजेंद्र सिंह शेखावत के पीए मीडिया कर्मियों से यह कहते सुनाई पड़ रहे हैं कि दो बजे तक खबर नहीं चलाना. 

इस वीडियो के वायरल होने के बाद अब यह सवाल उठता है कि शेखावत आखिर अपना नामांकन गुप्त क्यों रखना चाहते थे. आखिर उनके पीए ने मीडिया कर्मियों से दो बजे तक खबर नहीं चलाने की गुहार क्यों लगाई. 

दरअसल गजेंद्र सिंह शेखावत ने शनिवार को दो बार नामांकन पत्र दाखिल किए. उनके पहले नामांकन के दौरान  कैबिनेट मंत्री जोगाराम पटेल, शहर विधायक अतुल भंसाली, उनके पीए सहित एक-दो लोग और थे. यह नामांकन गजेंद्र सिंह शेखावत ने शनिवार दोपहर 12 बजकर 15 मिनट पर भरा. इसके बाद कुछ देर बाद वो पोलो ग्राउंड पहुंचे. जहां नामांकन रैली में सीएम भजनलाल शर्मा सहित अन्य नेता भी शामिल हुए. 

शेखावत के पीए का वीडियो हुआ वायरल

शेखावत के पीए का जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है वह उनके पहले नामांकन का है. जिसमें वो बेहद करीबी लोगों के साथ निर्वाचन अधिकारी गौरव अग्रवाल के चैंबर में पहुंचे थे. इसके कुछ देर बाद पोलो ग्राउंड में भव्य नामांकन रैली में शामिल हुए.


जहां जनसभा को सम्बोधित करने के बाद मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा और केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत रथ में सवार होकर शहर में रैली के रूप में मुख्य मार्गो से होते हुए कलेक्ट्रेट पहुचें. कलेक्ट्रेट पहुचं कर मुख्यमंत्री शर्मा व केन्द्रीय मंत्री शेखावत अंतिम समय में जिला निर्वाचन अधिकारी के समक्ष पहुचें. और मुख्यमंत्री के साथ केन्द्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने दोपहर बाद 3 बजे दूसरा नामांकन पत्र भरा.

कहा जा रहा है कि शेखावत अपना पहला नामांकन गुप्त रखना चाहते थे. दरअसल शेखावत का पहला नामांकन शुभ मुर्हूत में दोपहर 12.15 मिनट में भरा गया था. लेकिन दूसरा नामांकन सीएम की मौजूदगी में दोपहर बाद 3 बजे भरा गया. यदि शेखावत के पहले नामांकन की बात सामने आ जाती तो उनके दूसरे नामांकन का फेम कम हो जाता. जिसमें सीएम भी शामिल हुए थे. ऐसे में शेखावत अपना पहला नामांकन गुप्त रखना चाहते थे.  

शेखावत के नामांकन के बाद सीएम बोले- सभी 25 सीटें बड़े मार्जिन से जीतेंगे

नामांकन के बाद सभी कलेक्ट्रेट से बाहर आए. कलेक्ट्रेट के बाहर मुख्यमंत्री ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि प्रदेशवासियों को राजस्थान दिवस की शुभकामनाएं दी. साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने मन बना लिया है कि अबकी बार 400 पार और राजस्थान में 25 की 25 सीटें बड़ें मार्जिन से जीतेंगे. जो काम किया है उस पर विश्वास है. देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश का नाम ऊंचा किया है. ऐसे में तीसरी बार देश में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सरकार बनेगी.

कांग्रेस पर हमला करते हुए मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की हालत देख सकते है वहां तो पहले से ही टिकट लेने को तैयार नहीं है. उन्होंने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष  गोविंद सिंह डोटासरा के गृह जिले सीकर को लेफ्ट को देने के मामले में भी सवाल उठाए. 


सीएम के घूरते ही डीएम ऑफिस से बाहर निकले भाजपा नेता

गजेंद्र सिंह शेखावत और सीएम भजनलाल शर्मा के रोड शो के दौरान पुलिस की गाड़ियां बीजेपी की रथ के आगे चल रही थी. वहीं नामांकन का समय पूरा होते देख जिला निर्वाचन अधिकारी ने गजेंद्र सिंह शेखावत के अधिवक्ता नाथू सिंह राठौर से समय सीमा को लेकर बात कर ही रहे थे कि 3:01 पर वह किसी को अलाऊ नहीं करेंगे.

इतने में मुख्यमंत्री जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में दाखिल हुए. लेकिन जिला निर्वाचन कार्यालय में 5 से ज्यादा जनप्रतिनिधि और कार्यकर्ताओं को देख मुख्यमंत्री ने एक बार सबको घूरा और उसके बाद तमाम जनप्रतिनिधि और कार्यकर्ता जिला निर्वाचन कार्यालय से बाहर निकल गए. उसके बाद जोधपुर लोकसभा प्रत्याशी गजेंद्र सिंह शेखावत ने मुख्यमंत्री के साथ मिलकर अपना नामांकन जमा करवाया.

नामांकन से लौटते समय जाम में फंसा सीएम का काफिला

वहीं नामांकन के बाद मुख्यमंत्री का काफिला जब जिला कलेक्टर कार्यालय से बाहर निकला तो पावटा से सर्किट हाउस जाने वाले ब्रिज पर मुख्यमंत्री का काफिला ट्रैफिक जाम में फंस गया. इसके बाद कड़ी मशक्कत के बाद में पुलिस प्रशासन ने जाम खुलवाया. वहीं ट्रैफिक जाम का वीडियो बना रहे मीडिया कर्मी को सीएम के सुरक्षा कर्मी कवरेज करने से टोकते नजर आए.

यह भी पढ़ें - राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में भाजपा ने बनाई मेनिफेस्टो कमेटी, वसुंधरा सहित राजस्थान के दो और नेता शामिल

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close