विज्ञापन
Story ProgressBack

बोरवेल में गिरी महिला मोना बैरवा की मौत मामले में आया नया मोड़, ससुराल वालों पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज

Gangapur Women Fell in Borewell: राजस्थान के गंगापुरसिटी जिले में बीते दिनों बोरवेल में गिरी एक महिला की मौत हो गई थी. इस महिला को बोरवेल से निकालने के लिए 6 दिनों का रेस्क्यू ऑपरेशन चला था. लेकिन अब इस महिला की मौत के मामले में नया मोड़ आया है.

Read Time: 5 min
बोरवेल में गिरी महिला मोना बैरवा की मौत मामले में आया नया मोड़, ससुराल वालों पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज
गंगापुर सिटी में बोरवेल में गिरी महिला मोना बैरवा की फाइल फोटो.

Gangapur Women Fell in Borewell: बीते दिनों राजस्थान के गंगापुरसिटी जिले में एक महिला बोरवेल में गिर गई है. 25 वर्षीय इस महिला को बोरवेल से निकालने के लिए 6 दिनों तर रेस्क्यू ऑपरेशन चला था. एनडीआरएफ के साथ-साथ स्थानीय प्रशासन की कई दिनों की मेहनत के बाद महिला का शव बाहर निकाला गया था. बोरवेल में एक महिला के गिरने की बात को लेकर शुरू से कई तरह की आशंका जताई जा रही थी. अब इस मामले में एक नया मोड़ आया है. जिससे पुलिस जांच की दिशा दूसरी तरफ घूम गई है. दरअसल बोरवेल में गिरी मोना बैरवा की मौत के मामले में उसके मायके वालों ने ससुराल वालों पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है. जिसके बाद अब पुलिस इस एंगल से मामले की जांच में जुटी है. 

6 दिन की कड़ी मशक्कत के बाद निकाला गया था शव

मालूम हो कि गंगापुरसिटी जिले के बामनवास क्षेत्र के रामनगर ढोसी गांव में 25 वर्षीया मोना बैरवा बोरवेल में गिर गई थी. मंगलवार को मोना की मौत को लेकर उसके पिता ने बामनवास थाने में मोना के ससुराल पक्ष के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया है. जिसे लेकर पुलिस जांच में जुट गई है. बता दें कि पिछले मंगलवार की रात मोना बैरवा घर के पास खेत पर बने कच्चे बोरवेल में गिर गई थी. मोना के शव को बोरवेल से निकालने के लिए एसडीआरएफ व एनडीआरएफ की टीम को 6 दिन तक कड़ी मशक्कत करनी पड़ी और लगातार 6 दिन तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सोमवार दोपहर को मोना के शव को बोरवेल से बाहर निकाला गया.

अंतिम संस्कार में दोनों पक्ष के लोग थे मौजूद

पुलिस ने शव को कड़ी सुरक्षा के बीच बामनवास सीएचसी पहुंचाया . जहां 3 सदस्यीय मेडिकल बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम करने के बाद शव ससुराल पक्ष के सुपुर्द कर दिया गया. पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया. मोना के शव के अंतिम संस्कार के दौरान मोक्षधाम पर पीहर पक्ष व ससुराल पक्ष के लोग भी मौजूद रहे. लेकिन अब मोना की मौत के मामले में नया मोड़ आ गया. बामनवास थाना पर मामला दर्ज किया गया. 

2021 में मोना की हुई थी शादी

मोना की मौत को लेकर मोना के पिता ने बामनवास थाने में मोना के ससुराल पक्ष के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया है. जिसे लेकर पुलिस अब मामले की जांच में जुट गई है. बामनवास थानाधिकारी हवा सिंह ने बताया कि मृतका मोना बैरवा के पिता बृजमोहन बैरवा निवासी जहांनगर, मोरड़ा ,तहसील टोडाभीम ने रिपोर्ट में बताया है कि 14 मई 2021 को उसकी बेटी मोनिका उर्फ मोनाब की शादी सुरेश बैरवा पुत्र हजारीलाल बैरवा निवासी रानीला के साथ हिंदू रीति रिवाज के अनुसार की गई थी. 

पिता बोले- दहेज के लिए बेटी से मारपीट होती थी

परिवादी के मुताबिक ससुराल पक्ष ने कुछ दिनों तक उसकी बेटी को अच्छे से रखा. लेकिन उसके बाद ही पति सुरेश बैरवा, जेठ पंखीलाल उर्फ पंकज,  जेठानी लक्ष्मी व सास कैलाशी आए दिन उसकी बेटी मोना को कम दहेज लाने की बात को लेकर ताना मारने लगे और क्रूरता पूर्ण व्यवहार करने लगे. साथ ही मारपीट भी करना शुरू कर दिया. परिवादी पिता ने आरोप लगाया कि ससुराल पक्ष उसे बार-बार कहता था कि तेरे पिता के कोई और संतान नहीं है इसलिए जो भी धन दौलत है उस पर उनका ही अधिकार है. 

एक फरवरी से बेटी से नहीं हो रही बातचीत

पीड़ित पिता के मुताबिक 1 फरवरी 2024 के बाद उनकी बात उनकी मोना से नहीं हुई. वहीं 6 फरवरी 2024 को मोना के पति सुरेश बैरवा ने रात 8:30 बजे फोन कर मोना के लापता होने की बात मोना के पीहर पक्ष को दी. पीड़ित पिता ने आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दी कि 7 फरवरी को चारों आरोपियों ने योजना अनुसार मोना को मारकर बोरवेल के गहरे गड्ढे में डाल दिया. बहरहाल बामनवास थाना पुलिस ने परिवादी बृजमोहन बैरवा की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज कर लिया है. 

घर से पास स्थित बोरवेल में गिरी थी महिला

मामले की जांच पुलिस उपाधीक्षक संतराम द्वारा की जा रही है. गौरतलब है कि मोना बैरवा गत मंगलवार को रात करीब 8 बजे घर के नजदीक ही एक कच्चे बोरवेल में गिर गई थी और परिजनों की सूचना पर बुधवार दोपहर को पुलिस प्रशासन मौका स्थल पर पहुंचा था और मोना के बोरवेल में गिरने की संभावना के मद्देनजर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया था. कड़ी मशक्कत के बाद मोना का शव बोरवेल से निकाला गया. इस दौरान एसडीआरएफ व एनडीआरएफ टीमों को कड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ा. 

पोस्टमार्टम की पहली रिपोर्ट में दम घुटने से मौत की बात

पोस्टमार्टम के बाद मेडिकल बोर्ड ने प्रथम दृष्ट्या दम घुटने को मौत का कारण माना है. हालांकि औपचारिक पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही हो सकेगी. लगातार चर्चाओं का पर्याय बना बोरवेल प्रकरण किस ओर करवट लेगा यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा. घर के नजदीक खेत के कोने में बने हुए खुले बोरवेल में गिरना संभवतय हादसा नहीं लग रहा. ऐसे में मामला हत्या का है या आत्महत्या का ? यह पुलिस जांच का विषय है. फिलहाल पुलिस सभी एंगल से तथ्य जुटाकर मामले की जांच में जुटी हुई है. 

यह भी पढ़ें - बोरवेल में गिरी मोना की निकाली गई लाश, 7 दिन बाद NDRF और SDRF टीम को मिली सफलता

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close