विज्ञापन
Story ProgressBack

बस एक दिन का इंतजार...राजस्थान समेत 3 राज्यों के भविष्य का होगा फैसला, मिजोरम में 4 दिसंबर को आएंगे नतीजे

राजस्थान- मध्य प्रदेश- छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में 3 दिसंबर को मतगणना शुरु होगी, वहीं मिजोरम में मतगणना की तारीखों में संशोधन किया गया है. अब मिजोरम के लोगों को थोड़ा और इंतेजार करना होगा क्योंकि मिजोरम में मतगणना 3 दिसंबर को नहीं बल्की 4 दिसंबर को होगी.

Read Time: 4 min
बस एक दिन का इंतजार...राजस्थान समेत 3 राज्यों के भविष्य का होगा फैसला, मिजोरम में 4 दिसंबर को आएंगे नतीजे
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Assembly Elections 2023: पांच राज्यों- राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम चुनाव बाद एग्जिट पोल (Assembly Elections 2023 Exit Poll) के नतीजे 30 नवंबर (गुरुवार) को सामने आ गए. एग्जिट पोल के मुताबिक, राजस्थान-मध्य प्रदेश में बीजेपी, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में कांग्रेस (Congress) की सरकार बनती दिख रही है. जबकि मिजोरम में हंग असेंबली के आसार हैं. इनमें से मिजोरम को छोड़कर बाकी चारों राज्यों में वोटों की गिनती (Assembly Elections Result 2023) 3 दिसंबर को होगी. मिजोरम चुनाव के नतीजे 4 दिसंबर को आएंगे.

मिजोरम में अब 4 दिसंबर को होगी मतगणना

चुनाव आयोग ने मिजोरम विधानसभा चुनाव में वोटों की गिनती की तारीख में संशोधन किया है. पहले मिजोरम चुनाव के नतीजे भी अन्य चार राज्यों के चुनाव परिणामों के साथ 3 दिसंबर को घोषित होने वाले थे. मतगणना और नतीजों की तारीख एक दिन आगे बढ़ाकर 4 दिसंबर कर दी गई है. मिजोरम एनजीओ कोआर्डिनेशन कमेटी (NGOCC) की ओर से राज्य में विरोध प्रदर्शन किए जाने के कारण मतगणना की तारीख बदलने का फैसला लिया गया है.

तिथि में बदलाव को लेकर राज्यभर में हुआ विरोध प्रदर्शन

ग्रुप ने पहले 3 दिसंबर को मतगणना को लेकर नाराजगी जताई थी क्योंकि इस दिन रविवार है, जो ईसाइयों के लिए एक पवित्र दिन है. राज्य में ईसाई बहुसंख्यक हैं. मिजोरम में आज ‘एनजीओ कोऑर्डिनेशन कमेटी' के सदस्यों ने राज्य विधानसभा चुनाव के बाद तीन दिसंबर को प्रस्तावित मतगणना की तिथि में बदलाव को लेकर राज्यभर में विरोध प्रदर्शन किया. राज्य की राजधानी आइजोल और अन्य जिला मुख्यालयों में प्रदर्शन किए गए.

मिजोरम में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान सात नवंबर को हुआ था. राज्य के 8.57 लाख पात्र मतदाताओं में से 80 फीसदी से अधिक ने मतदान किया है. कुल 174 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा.

मिजोरम में एनजीओसीसी नागरिक समाज के प्रमुख संगठनों और छात्र समूहों एक व्यापक संगठन है जिसमें प्रभावशाली सेंट्रल यंग मिजो एसोसिएशन (सीवाईएमए) और मिजो जिरलाई पावल (एमजेडपी) शामिल हैं. आइजोल में राजभवन के पास रैली को संबोधित करते हुए एनजीओसीसी के अध्यक्ष लालहमछुआना ने निर्वाचन आयोग पर राजनीतिक दलों, गिरजाघरों और गैर सरकारी संगठनों द्वारा बार-बार मतगणना की तारीख को बदलने की अपील के बावजूद इस मुद्दे पर चुप रहने का आरोप लगाया. 

'निर्वाचन आयोग के अधिकारियों के साथ पर हुई थी चर्चा'

सीवाईएमए के अध्यक्ष लालहमछुआना ने कहा कि यह विरोध प्रदर्शन मिजो समुदाय और उनके धर्म की रक्षा के अलावा और कुछ नहीं है. लालहमछुआना ने कहा कि मतगणना की तारीख रविवार को पड़ती है, जो ईसाइयों के लिए एक पवित्र दिन है. उन्होंने कहा कि मिजोरम एक ईसाई बहुल राज्य है. उन्होंने कहा कि एनजीओसीसी ने हाल ही में एक प्रतिनिधिमंडल दिल्ली भेजा था और निर्वाचन आयोग के अधिकारियों के साथ इस मुद्दे पर चर्चा की थी.

ये भी पढें-  राजस्थान के रिजल्ट से पहले RSS ऑफिस और राजभवन पहुंचीं वसुंधरा राजे, बढ़ीं सियासी हलचलें

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • 24X7
Choose Your Destination
Close