विज्ञापन
Story ProgressBack

धौलपुर में डकैत और पुलिस के बीच मुठभेड़, 45000 के इनामी डकैत को लगी गोली

राजस्थान के धौलपुर जिले में बुधवार को 45000 के इनामी डकैत राजवीर और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई है. इस इनकाउंटर में डकैत की जांघ में गोली लगी है. फिलहाल उसका इलाज कराया जा रहा है.

Read Time: 4 mins
धौलपुर में डकैत और पुलिस के बीच मुठभेड़, 45000 के इनामी डकैत को लगी गोली
अस्तपाल में घायल डकैत

Rajasthan News: राजस्थान के धौलपुर में 45 हजार इनामी डकैत राजवीर और पुलिस के बीच जबरदस्त मुठभेड़ में डैकत राजवीर को जांघ में गोली लगने से वह घायल हो गया. वहीं उसके पास से देसी कट्टे और 11 जिंदा कारतूस मिले हैं. डकैत राजवीर को पकड़ने के लिए राजस्थान सशस्त्र कांस्टेबुलरी (RAC)और पुलिस के जवानों ने मिलकर कार्रवाई की. डकैतों को पकड़ने गई टीम के बीच मुठभेड़ में दोनों ओर से फायरिंग हुई. इस फायरिंग में डकैती राजवीर के बाएं पैर की जांघ में गोली लग गई.

राजवीर उर्फ रज्जो (35) पुत्र दीवान सिंह निवासी अतिराजपुरा का रहने वाला है. जो अपने दो साथियों के साथ बाइक से भरतपुर के गढ़ी बजाना से धौलपुर की ओर जा रहे थे. डकैत राजवीर के धौलपुर आने की सूचना पर आरएसी कमांडो की टीम के साथ पुलिस ने बसेड़ी थाना क्षेत्र में पिपरोन पुलिया पर उसकी घेराबंदी की. बाइक से  आ रहे बदमाश और उसके साथी पुलिस को देखकर घबरा गए. जिससे उनकी बाइक असंतुलित होकर गिर गई. बदमाश को पहचानने के बाद पुलिस ने उसका पीछा किया. राजवीर ने बचने के लिए सात राउंड फायर किये.

कांस्टेबल ने 5 राउंड फायर कर दिए

बदमाश की गोली आरएसी कमांडो रूपेंद्र और पुलिस कांस्टेबल अशोक मीणा के सिर के ऊपर से निकल गई. जिसके जवाब में कांस्टेबल अशोक मीणा ने अपनी AK-47 से 5 राउंड फायर कर दिए. जिसकी एक गोली बदमाश की जांघ में लग गई. इसके बाद कमांडो और कांस्टेबल ने बदमाश को पकड़ लिया.जिसके बाद घायल डकैत को अस्पताल ले जाया गया.कांस्टेबल नीरज शर्मा ने बसेड़ी थाने में घटना को लेकर मामला दर्ज कराया है. जिसके बाद देर रात को में डकैत के खिलाफ जानलेवा हमला और आर्म्स एक्ट की धाराएं लगाई गई है.

दो साथियों के साथ बाइक से आ रहा था डकैत

इनामी डकैत भरतपुर की ओर से धौलपुर आ रहा था। एक बाइक पर तीन लोग बैठे हुए थे. जिनमें सबसे पीछे पिट्ठू बैग लटका कर डकैत राजवीर बैठा था. डकैत को पकड़ने के लिए खड़ी कमांडो और पुलिस की टीम ने उसे पहचान लिया। बाइक के असंतुलित होकर गिरने पर डकैत के साथ बाइक पर मौजूद दो लोग एक दिशा में भागने लगे तो डकैत दूसरी दिशा में भागने लगा. जिस पर पुलिस ने डकैत का पीछा करना शुरू कर दिया जहां मुठभेड़ में उसके पैर में गोली लग गई। वहीं उसके दो साथी भागने में कामयाब रहे.

ऱाजवीर पर यूपी के आगरा में कई मामले दर्ज 

इनामी डकैत राजवीर पर धौलपुर और उत्तर प्रदेश के आगरा में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. डकैत हथियार की नोक पर चोरी और लूट की वारदात को अंजाम देता था. जिस पर धौलपुर पुलिस से 25 हजार रूपए और उत्तर प्रदेश के आगरा से 20 हजार रुपए का इनाम घोषित था. डकैत राजवीर धौलपुर जिले की टॉप 3 बदमाशों की सूची में दूसरे नंबर पर शामिल था.

डकैत गिरोह का सफाया करने के लिए बनाई गई है RAC कमांडो की टीम

धौलपुर जिले में टॉप 10 डकैत गिरोह का सफाया करने के लिए पुलिस के अलावा आरएसी कमांडो की भी टीम तैयार की गई है. जिस टीम को कुख्यात डकैत धर्मेंद्र उर्फ लुक्का गुर्जर को गिरफ्तार करने का टास्क दिया गया है. इसी दौरान टीम को दूसरे नंबर पर शामिल डकैत राजवीर के आने की सूचना मिली थी. जिससे बाद एक ज्वाइंट ऑपरेशन किया गया.

देसी कट्टा और 11 कारतूस बरामद

मुठभेड़ के बाद कमांडो रूपेंद्र और कांस्टेबल अशोक मीणा ने डकैत राजवीर को घायल हालत में मौके पर ही दबोच लिया. जिसकी तलाशी में पुलिस को 315 बोर का लोडेड देसी कट्टा और 11 कारतूस मिले. डकैती के साथ-साथ आर्म्स एक्ट का भी मामला दर्ज किया गया है.

यह भी पढ़ें - धौलपुरः चंबल नदी किनारे से 20 हजार का इनामी डकैत गिरफ्तार, नाव से उतरते ही पुलिस ने दबोचा, देखें वीडियो

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
इटली से आए विदेशी कोच भारतीय खिलाड़ियों को दे रहे प्रशिक्षण, लेंगे 'वर्ल्ड स्केट गेम्स 2024' में भाग
धौलपुर में डकैत और पुलिस के बीच मुठभेड़, 45000 के इनामी डकैत को लगी गोली
RSS Leader Indresh Kumar Said- 'Ego stopped BJP from getting majority', all those opposing Ram could not form govt
Next Article
'अहंकार ने भाजपा को बहुमत से रोका', राम का विरोध करने वाले सब मिलकर भी सरकार नहीं बना पाएः इंद्रेश कुमार
Close
;