विज्ञापन
Story ProgressBack

Rajasthan Gangrape: बहनोई संग पुष्कर घूमने आई युवती का किडनैप, बंदूक की नोक पर 8 लोगों ने कार में किया गैंगरेप

18 मार्च एक युवती अपने बहनोई संग पुष्कर घूमने आई थी. इसी दौरान उसे बंदूक की नोक पर कार में अगवा कर लिया गया और फिर 8 लोगों ने उसका गैंगरेप किया. पीड़ित ने 22 मार्च को इसकी शिकायत जिला एसपी से की थी.

Read Time: 3 min
Rajasthan Gangrape: बहनोई संग पुष्कर घूमने आई युवती का किडनैप, बंदूक की नोक पर 8 लोगों ने कार में किया गैंगरेप
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Rajasthan News: अपने बहनोई संग अजमेर (Ajmer) की पुष्कर घाटी स्थित महाराणा प्रताप स्मारक (Maharana Pratap Smarak) घूमने आई एक युवती को अगवा करने और फिर बंदूक की नोक पर उसके साथ 8 लोगों द्वारा गैंगरेप (Gangrape) करने का मामला सामने आया है, जिसने राजस्थान का शर्मसार कर दिया है. इस गंभीर प्रवृत्ति के मामले में क्रिश्चियन गंज थाना पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबकि अन्य की तलाश की जा रही है.

आईजी ने लिया संज्ञान

क्रिश्चियन गंज थाना प्रभारी अरविंद चारण ने जानकारी देते हुए बताया कि ये घटना 18 मार्च की है, जिसकी शिकायत 22 मार्च को ब्यावर निवासी एक महिला ने जिला पुलिस अधीक्षक देवेंद्र कुमार विश्नोई को दी. एसपी ने तुरंत इस मामले में संज्ञान लेते हुए क्रिश्चियन गंज थाना पुलिस को सूचित करते हुए मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए. इसके बाद हमने एफआईआर दर्ज करके तुरंत मामले की जांच शुरू कर दी. कुछ समय बाद जैसे ही ये खबर आला अधिकारियों तक पहुंची तो आईजी लता मनोज ने इस पर संज्ञान ले लिया और एक टीम का गठन किया, जिसमें एसपी, एडिशनल एसपी, सीओ, थाना अधिकारी और पुलिस महकमे के आला अधिकारी ने संयुक्त रूप से कार्रवाई को अंजाम दिया. 

गिरफ्तार दोनों आरोपियों की तस्वीर.

गिरफ्तार दोनों आरोपियों की तस्वीर.
Photo Credit: NDTV Reporter

शिनाख्त परेड से पहचान

चारण ने बताया कि गिरफ्तार दोनों आरोपी अजमेर माकड़ वाली निवासी रामराज गुर्जर और महेश गुर्जर हैं. दोनों ही आरोपियों को बापर्दा रखा गया है. पीड़िता ने दी शिकायत में बताया था कि वारदात के समय आरोपी अपने नाम से एक दूसरे को बुला रहे थे, जिसके आधार पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. अब पीड़िता से आरोपियों की शिनाख्त परेड कराई जाएगी. बताते चलें कि जब किसी मुल्जिम को ऐसे गंभीर अपराध करने के आरोप में गिरफ्तार किया जाता है, जहां वारदात में पीड़ित द्वारा आरोपी की पहचान नहीं पता होती है. तब किसी अन्य व्यक्ति या व्यक्तियों द्वारा उसकी पहचान ऐसे अपराध की जांच के उद्देश्य से आवश्यक मानी जाती है तो टेस्ट आइडेंटिफिकेशन परेड (TIP) यानी शिनाख्त परेड आयोजित की जा सकती है.

ये भी पढ़ें:- रविंद्र सिंह भाटी ने BJP का ऑफर ठुकराया? आज बड़ा ऐलान संभव, 'मिशन-25' पर खतरा!

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close