विज्ञापन
Story ProgressBack

Lok Sabha Elections 2024: फलोदी सट्टा बाजार के आंकलन ने भाजपा के 3 कद्दावर नेताओं की बढ़ाई टेंशन, केंद्रीय मंत्री भी शामिल

Phalodi Satta Bazar prediction: राजस्थान के लिहाज से फलोदी सट्टा बाजार के आंकलन से भाजपा के 3 कद्दावर नेताओं टेंशन में बताए जा रहे हैं. क्योंकि सट्टा बाजार में इन तीनों नेताओं का भाव ज्यादा हैं. कहा जाता है कि फलोदी सट्टा बाजार में जिसपर जितना कम भाव लगता है, उसके जीतने की संभावना उतनी अधिक रहती है.

Read Time: 4 mins
Lok Sabha Elections 2024: फलोदी सट्टा बाजार के आंकलन ने भाजपा के 3 कद्दावर नेताओं की बढ़ाई टेंशन, केंद्रीय मंत्री भी शामिल
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान 1 जून को होने वाला है. इसके बाद 4 जून को लोकसभा चुनाव का रिजल्ट सामने आ जाएगा. लेकिन वोटों की गिनती से पहले सबसे ज्यादा माथापच्ची इस बात पर हो रही है कि कौन जीतेगा, कौन हारेगा. संभावित रिजल्ट को लेकर कई संस्थाएं अपना रिसर्च डाटा तैयार कर रही है. जिसे एक जून को अंतिम चरण की वोटिंग समाप्त होने के तुंरत बाद एग्जिट पोल में बताया जाएगा. एग्जिट पोल से इतर चुनाव पर फलोदी सट्टा बाजार में दांव लगाया जा रहा है. राजस्थान का फलोदी सट्टा बाजार (Phalodi Satta Bazar) अपने सटीक आंकलन के लिए मशहूर है. कहा जाता है कि यहां का आंकलन ज्यादातर मामलों में सही निकला है. ऐसे में नेता-कार्यकर्ता के साथ-साथ बड़े-बड़े नेता भी सट्टा बाजार के आंकलन को सही मानते हैं. 

बीजेपी की सरकार तो बनेगी, लेकिन 2019 वाली बात नहीं

फलोदी सट्टा बाजार के आंकलन में एनडीए को तीसरी बार सत्ता में आने की बात कही जा रही है. हालांकि इस बार एनडीए 2019 की तुलना में कमजोर होगी. फलोदी सट्टा बाजार की भविष्यवाणी की मानें तो इस बार बीजेपी गठबंधन को 304 से 306 सीटें मिल सकती है. वहीं कांग्रेस 50 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है. बात राजस्थान की करें तो प्रदेश की 25 सीटों में से फलोदी सट्टा बाजार के सटोरी भाजपा को 19-20 सीटें दे रहे हैं. वहीं कांग्रेस को 3-5 सीटें दे रहे हैं. 

राजस्थान के लिहाज से फलोदी सट्टा बाजार के आंकलन से भाजपा के तीन कद्दावर नेताओं टेंशन में बताए जा रहे हैं. क्योंकि सट्टा बाजार में इन तीनों नेताओं पर भाव ज्यादा हैं. कहा जाता है कि फलोदी सट्टा बाजार में जिसपर जितना कम भाव लगता है, उसके जीतने की संभावना उतनी अधिक रहती है. 

केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी की हालत खराब

अब आप सोच रहे होंगे कि फलोदी सट्टा बाजार के आंकलन ने किन तीन भाजपा नेताओं को टेंशन में डाल रखा है, तो हम उनके नाम भी बता रहे हैं. इन तीन नेताओं में एक केंद्रीय मंत्री हैं. जो इस बार लोकसभा चुनाव के मैदान में है. इनका नाम है कैलाश चौधरी. कैलाश चौधरी राजस्थान की सबसे बड़ी लोकसभा सीट बाड़मेर-जैसलमेर से चुनावी मैदान में हैं. लेकिन यहां रविंद्र भाटी के निर्दलीय चुनाव लड़ने के कारण कांग्रेस उम्मीदवार उम्मेदाराम मेघवाल के आगे निकलने की ज्यादा संभावना जताई गई है. 

पायलट के गढ़ में जौनपुरिया भी चितिंत

दूसरा नाम टोंक-सवाई माधोपुर लोकसभा सीट के भाजपा प्रत्याशी और मौजूदा सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया का है. सचिन पायलट के गढ़ में सुखबीर की हालत पतली बताई जा रही है. सुखबीर के सामने कांग्रेस के हरीश चंद्र मीणा हैं. फलोदी सट्टा बाजार में हरीश चंद्र मीणा पर सुखबीर के मुकाबले कम भाव दिया जा रहा है. ऐसे में सुखबीर के मात की चर्चा है. 

दौसा में कांग्रेस भाजपा को देगा दोहरा झटका

तीसरा नाम दौसा के भाजपा उम्मीदवार कन्हैया लाल मीणा का है. यहां से कांग्रेस के प्रत्याशी मुरारी लाल मीणा है. सट्टा बाजार में मुरारी की जीत का दावा किया जा रहा है. दौसा सीट पर कन्हैया लाल मीणा का भाव 1.30 रुपये बताया जा रहा है. जबकि यहां से कांग्रेस उम्मीदवार मुरारी लाल मीणा का भाव 60 से 70 पैसे बताया जा रहा है.

यानी मुरारी लाल मीणा काफी आगे दिख रहे हैं. यदि यहां कन्हैया लाल मीणा की हार हुई तो यह राजस्थान सरकार के मंत्री किरोड़ी लाल मीणा के लिए बड़ा झटका होगा. क्योंकि किरोड़ी लाल मीणा ने इस सीट पर भाजपा की जीत के लिए पूरजोर मेहनत की है. उन्होंने बकायदा इस बात का ऐलान कर रखा है कि यदि भाजपा दौसा हारी तो वो मंत्री पद छोड़ देंगे. 

यह भी पढ़ें - राजस्थान की 25 की 25 लोकसभा सीटों का सट्टा बाजार का भाव, जानें, किसके खाते जाएगी कौन सी सीट?

NDTV सट्टा बाजार के अनुमानों का समर्थन नहीं करता है. ये अनुमान गलत भी साबित होते हैं. यह एक जानकारी साझा की गई है.

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
राजस्थान में 11 लोकसभा सीटों पर क्यों हारी बीजेपी? मंथन में बड़ी वजह आई सामने
Lok Sabha Elections 2024: फलोदी सट्टा बाजार के आंकलन ने भाजपा के 3 कद्दावर नेताओं की बढ़ाई टेंशन, केंद्रीय मंत्री भी शामिल
Bhupendra Yadav again got the Ministry of Environment, Forest and Climate Change, again got a big responsibility
Next Article
भूपेंद्र यादव को फिर मिला पर्यावरण-वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, मिली फिर बड़ी जिम्मेदारी
Close
;