विज्ञापन
Story ProgressBack

B.Ed में एडमिशन लेने वालों के लिए बुरी खबर, बीएड कॉलेजों की लिस्ट एक बाहर, दूसरे पर असमंजस

वीएमओयू ने 2 साल बीएड कोर्स के लिए प्रदेश भर में चल रहे 939 बीएड कॉलेजों की लिस्ट जारी कर दी है. लेकिन इस लिस्ट में दो कॉलेजों का नाम शामिल नहीं है.

Read Time: 3 mins
B.Ed में एडमिशन लेने वालों के लिए बुरी खबर, बीएड कॉलेजों की लिस्ट एक बाहर, दूसरे पर असमंजस
वर्द्धमान महावीर ओपन यूनिवर्सिटी

Rajasthan B.Ed Admission: राजस्थान के बीएड कॉलेजों (B.Ed) में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुका है. बीएड कॉलेजों के लिए नोडल एजेन्सी वर्द्धमान महावीर ओपन यूनिवर्सिटी, कोटा ने 6 जुलाई से ये प्रोसेस शुरू किया है. वीएमओयू ने 2 साल बीएड कोर्स के लिए प्रदेश भर में चल रहे 939 बीएड कॉलेजों की लिस्ट जारी कर दी है. लेकिन इस लिस्ट में दो कॉलेजों का नाम शामिल नहीं है. हालांकि एक कॉलेज को NOC दिया गया है लेकिन एक को अब तक NOC नहीं मिला है.

रजिस्ट्रेशन के 5 हजार रुपये कराने होंगे जा

बीएड कॉलेज में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 6 जुलाई से शुरू हुई है. जिसकी आखिरी तारीख 12 जुलाई है.बीएड में एडमिशन लेने वाले कैंडिडेट्स को ऑनलाइन काउन्सलिंग के ज़रिए ही दाखिला मिलेगा. इसके लिए निर्धारित तारीख़ तक 5 हजार रुपए फीस जमा करवा कर रजिस्ट्रेशन लेना होगा. वीएमओयू ने 2 साल बीएड कोर्स के लिए प्रदेश भर में चल रहे 939 बीएड कॉलेजों की लिस्ट जारी कर दी है. लेकिन इस लिस्ट में अजमेर में स्थित सरकारी बीएड कॉलेज का नाम शामिल नहीं है. 

लिस्ट में इन दो कॉलेजों का नाम नहीं

राज्य में सिर्फ़ दो ही सरकारी बीएड कॉलेज हैं. जिनमें से एक बीकानेर में है और दूसरा अजमेर में संचालित है. इन दोनों ही कॉलेजों की मान्यता राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद-एनसीटीई रद्द कर चुका है. दोनों कॉलेजों को एनओसी नहीं दी गई थी. इस कारण अजमेर के बीएड कॉलेज को काउन्सलिंग में शामिल नहीं किया गया.

हालांकि बीकानेर में संचालित बीएड कॉलेज को कोर्ट से स्टे ऑर्डर मिल गया. जिसके बाद राज्य सरकार ने उसे एनओसी जारी कर दी. कोर्ट से मिले स्टे ऑर्डर के बाद मिली एनओसी के तहत महाराजा गंगासिंह विश्विद्यालय ने कॉलेज के नाम नोडल एजेन्सी वर्द्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय, कोटा को भेज दिया. 

ग़ौरतलब है कि राजस्थान में सरकार की तरफ से बीकानेर और अजमेर में दो बीएड कॉलेज संचालित हैं. दोनों ही कॉलेजों में दो वर्षीय बीएड के लिए 150-150 सीटें निर्धारित हैं. अजमेर के सरकारी कॉलेज का नाम काउन्सलिंग में नहीं होने के कारण उसमें छात्रों को प्रवेश नहीं मिलेगा. उधर बीकानेर बीएड कॉलेज का मामला भी कोर्ट में होने के कारण छात्र एडमिशन को लेकर असमंजस में हैं. 

बीकानेर स्थित महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय के अतिरिक्त रजिस्ट्रार डॉ. बिट्ठल बिस्सा का कहना है कि बीकानेर के बीएड कॉलेज को कोर्ट से स्टे प्राप्त है. वहीं प्रदेश सरकार की तरफ आए एनओसी जारी की गई है. इसी के आधार पर बीएड कॉलेज का नाम नोडल एजेन्सी को भेजा गया है. 

यह भी पढ़ेंः राजस्थान में बजट पेश करने के बाद ही आई भर्ती, RPSC ने जारी किया विभिन्न पदों के लिए आवेदन का विज्ञापन

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Rajasthan Politics: मंजूर होगा इस्तीफा, या बैकफुट पर आएंगे किरोड़ी लाल मीणा? जल्द आ सकता है दिल्ली से बुलावा
B.Ed में एडमिशन लेने वालों के लिए बुरी खबर, बीएड कॉलेजों की लिस्ट एक बाहर, दूसरे पर असमंजस
Rajasthan Budget: Focus on By poll Assembly seats in budget, Dausa got many development figures
Next Article
Rajasthan Budget: बजट में उपचुनाव वाली सीट पर खास फोकस, दौसा जिले को मिली विकास की कई सौगा
Close
;