विज्ञापन
Story ProgressBack

Gogamedi Murder Case: NIA करेगी गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच, प्रशासन ने परिजनों की सभी मांगें मानी

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या को लेकर विरोध प्रदर्शन हुआ. सुखदेव हत्याकांड की जांच को लेकर परिजनों की मांग थी कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA)से जांच होनी चाहिए. प्रशासन ने परिजनों की सभी मांगें मान ली है.

Read Time: 3 min
Gogamedi Murder Case: NIA करेगी गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच, प्रशासन ने परिजनों की सभी मांगें मानी
फाइल फोटो- सुखदेव सिंह गोगामेड़ी

Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case: राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (NIA) श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच करेगी. 5 दिसंबर को दोपहर में हुए इस हत्याकांड के बाद पूरे राजस्थान में विरोध-प्रदर्शन का दौर जारी है. इस बीच बुधवार शाम प्रशासन और गोगामेड़ी के परिजनों के बीच हुई बातचीत के बाद यह फैसला लिया गया कि इस मामले की जांच के लिए एनआईए को सिफारिश की जाएगी. इसके अलावा प्रशासन ने परिजनों की अन्य मांगें भी मान ली है. जिसके बाद अब विरोध-प्रदर्शन समाप्त होने की उम्मीद की जा रही है.

परिजनों ने की थी एनआईए से जांच की मांग

मालूम हो कि राजस्थान की राजधानी जयपुर में 5 दिसंबर को घर में घुसकर दो बदमाशों ने श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद पूरे प्रदेश में व्यापक विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया था. सुखदेव हत्याकांड की जांच को लेकर परिजनों की मांग थी कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA)से जांच होनी चाहिए.

Latest and Breaking News on NDTV

जिसको लेकर बुधवार देर शाम तक पुलिस प्रशासन और परिजनों की सभी मांगों पर बनी सहमति गई है. सुखदेव सिंह हत्याकांड की जांच अब एनआईए को सौंपी जाएगी. इसके साथ ही सुखदेव सिंह गोगामेडी के परिवार को पुलिस सुरक्षा देगी. प्रदेश में भाजपा सरकार का गठन होते ही मुआवजा राशि और परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी की मांग भी स्वीकार कर ली गई है.

परिजनों की प्रमुख मांगें कुछ इस प्रकार से रहीं

सुखदेव सिंह के परिजनों को आर्थिक सहायता, सरकारी नौकरी के लिए राज्य सरकार से अनुशंसा की जाए. परिवार के सदस्यों को जयपुर में पुलिस आयुक्तालय जयपुर द्वारा और हनुमानगढ़ जिले में जिला पुलिस हनुमानगढ़ द्वारा हाई सिक्योरिटी प्रदान की जाए. हत्याकांड का ट्रायल फास्ट ट्रैक कोर्ट (विशेष न्यायालय एनआईए प्रकरण) से करवाया जाए. घटना घटित होने के पूर्व और उसके बाद लापरवाही बरतने के संबंध में विभागीय जांच की जाए. इस विभागीय जांच के दौरान थानाधिकारी और बीट में पद स्थापित कार्मिकों को पुलिस लाईन जयपुर में स्थानान्तरण किया जाए.

हत्याकांड में दर्ज हुआ एफआईआर

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में जयपुर के श्याम नगर थाने में FIR दर्ज की गई है. मामले में आईपीसी की धारा 307, 397, 341, 34,3 और 25(6) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है जिसकी जांच SHO मनीष गुप्ता को सौंपी गई है.

यह भी पढ़ें- गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच के लिए SIT गठित, एडीजी क्राइम दिनेश एनएम करेंगे निगरानी

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • 24X7
Choose Your Destination
Close