विज्ञापन
Story ProgressBack

Lok Sabha 2024: पंजाब में कांग्रेस के स्पेशल ऑब्जर्वर बनाए गए पूर्व मंत्री हरीश चौधरी

लगातार दो बार से बायतु विधानसभा सीट से विधायक चुने जा चुके हरीश चौधरीर गहलोत सरकार में राजस्व मंत्री रहे हैं और कांग्रेस संगठन में वे वर्तमान में राष्ट्रीय सचिव पद पर है और सीडब्ल्यूसी यानी कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य है.

Read Time: 4 mins
Lok Sabha 2024: पंजाब में कांग्रेस के स्पेशल ऑब्जर्वर बनाए गए पूर्व मंत्री हरीश चौधरी
हरीश चौधरी (फाइल फोटो)

Lok Sabha Election 2024: बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा सीट से पूर्व सांसद और पूर्व राज्य मंत्री हरीश चौधरी को लोकसभा चुनाव को लेकर पंजाब कांग्रेस का विशेष पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है. मारवाड़ की राजनीति खासकर बाड़मेर जैसलमेर में चाणक्य कहे जाते हैं. इससे पहले 2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान भी वो पंजाब के पर्यवेक्षक रहे थे.

लगातार दो बार से बायतु विधानसभा सीट से विधायक चुने जा चुके हरीश चौधरीर गहलोत सरकार में राजस्व मंत्री रहे हैं और कांग्रेस संगठन में वे वर्तमान में राष्ट्रीय सचिव पद पर है और सीडब्ल्यूसी यानी कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य है.

पंजाब-चंडीगढ़ कांग्रेस संगठन का पर्यवेक्षक बनाए गए थे हरीश चौधऱी 

वर्ष 2017 में पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच राजनीतिक वर्चस्व की लड़ाई के बीच उपजे सियासी संकट के बाद कांग्रेस आलाकमान ने उन्हें पंजाब और चंडीगढ़ कांग्रेस संगठन का पर्यवेक्षक बनाकर भेजा गया था.

नियुक्त को लेकर कांग्रेस आलाकमान द्वारा जारी किया गया पत्र

नियुक्त को लेकर कांग्रेस आलाकमान द्वारा जारी किया गया पत्र

पंजाब सियासी संकट के बीच संकट मोचक बन कर उभरे पूर्व सांसद

हरीश चौधरी पंजाब में छिड़े सियासी संकट के बीच कांग्रेस के लिए संकट मोचन के रूप में उभर कर सामने आएं और सुनील जाखड़ को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाकर नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया. तत्कालीन सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा.

कैप्टन अमरिंदर की जगह चरणजीत सिंह बनाए गए पंजाब के सीेएम

पंजाब-चंडीगढ़ में संगठन के पर्यवेक्षक के तौर पर भेजे गए हरीश चौधरी के नेतृत्व में चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का नया मुख्यमंत्री बनाया गया, इसके बाद हुए पंजाब विधानसभा चुनाव में हरीश चौधरी को पंजाब कांग्रेस का प्रभारी बनाया गया था इसी के चलते एक व्यक्ति एक पद की पॉलिसी के तहत उन्हें राजस्थान सरकार में मंत्री के पद से इस्तीफा भी देना पड़ा था।

बाड़मेर जैसलमेर लोकसभा सीट से कांग्रेस के लिए बड़ी भूमिका निभाई 

लोकसभा चुनाव 2024 में बाड़मेर जैसलमेर लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के चयन से लेकर चुनाव प्रचार तक की जिम्मेदारी अकेले हरीश चौधरी के कंधों पर थी. उन्होंने  ही हनुमान बेनीवाल के साथ गठबंधन को लेकर बाड़मेर जैसलमेर सेट आरएलपी को देने का विरोध किया था.

आरएलपी लीडर उम्मेदाराम बेनीवाल को तोड़ने में हरीश चौधरी की भूमिका

वह हरीश चौधरी ही थे, जिन्होंने पूर्व आरएलपी नेता और मौजूदा कांग्रेस प्रत्याशी उम्मेदाराम को कांग्रेस के पाले में लाने में बड़ी भूमिका निभाई. अंदर ही अंदर उम्मेदाराम बेनीवाल को तोड़ने में बड़ी भूमिका उन्हीं की थी. उन्होंने ही स्थानीय संगठन में सहमति बनाकर उन्हें बाड़मेर जैसलमेर लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी बनाने में पूरी रणनीति बनाई.

कांग्रेस प्रत्याशी से ज्यादा निर्दलीय रविंद्र भाटी के निशाने पर रहे हरीश चौधरी 

बाड़मेर जैसलमेर लोकसभा सीट से इस बार जबरदस्त त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिला था. इसलिए चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी उम्मेदा राम बेनीवाल से ज्यादा हरीश चौधरी विरोधियों के निशाने पर थे. निर्दलीय रविंद्र सिंह भाटी खुलकर हरीश चौधरी के सामने मोर्चा खोल रिफाइनरी से लेकर कई मुद्दों को लेकर हरीश चौधरी पर बड़े आरोप लगाए थे.

वोट बैंक जाट समाज को कांग्रेस के पक्ष में एकजुट करने में सफल रहे हरीश चौधऱी

राजनीतिक जानकार बताते हैं कि इस बार का चुनाव हरीश चौधरी के लिए उनकी राजनीतिक साख चुनाव था. इसी के चलते सबसे वोट बैंक जाट समाज को कांग्रेस के पक्ष में एकजुट करने से लेकर विरोधियों पर हमला बोलने और रूठों को मनाने कमान संभाल रखी थी. 

ये भी पढ़ें-Lok Sabha 2024: राजस्थान में बीजेपी की मिशन 25 को बड़ा झटका, केंद्रीय गृह मंत्री का बड़ा बयान, जानें कितनी कम हो रही हैं सीटें?

Rajasthan.NDTV.in पर राजस्थान की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार, लाइफ़स्टाइल टिप्स हों, या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें, सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
केंद्र सरकार ने नहीं भेजी ST छात्रों की छात्रवृत्ति, 14964 स्टूडेंट्स दो साल से कर रहे स्कॉलरशिप का इंतजार
Lok Sabha 2024: पंजाब में कांग्रेस के स्पेशल ऑब्जर्वर बनाए गए पूर्व मंत्री हरीश चौधरी
Mahipal Makrana's wife came forward in dispute with Shiv Singh Shekhawat, said- Fraudulently Called him and Beaten
Next Article
शिव सिंह शेखावत से विवाद मामले में सामने आई महिपाल मकराना की पत्नी, कहा- उन्हें धोखे से बुलाकर मारा
Close
;